Vote in NOTA : जहां जीत का रिकॉर्ड बना, वहां ‘नोटा’ में सबसे ज्यादा वोट!

कई सीटों पर 'नोटा' को निर्दलीयों से ज्यादा वोट मिले!

513

Vote in NOTA : जहां जीत का रिकॉर्ड बना, वहां ‘नोटा’ में सबसे ज्यादा वोट!

Indore : इस बार रिकॉर्ड मतदान हुआ और भाजपा ने जिले की सभी 9 सीटें जीत ली। उम्मीदवारों की जिस तरह जीत हुई, उससे यह भी लगा कि मतदाताओं ने अपनी पसंद के उम्मीदवार को चुनकर वोट दिया। इसके बावजूद नोटा का बटन दबाने वाले मतदाता भी कम नहीं रहे।

इंदौर जिले की 9 विधानसभा सीटों पर 15105 लोगों ने किसी उम्मीदवार के बजाए ‘नोटा’ का बटन दबाना ज्यादा बेहतर समझा। यहां तक कि जिस इंदौर-2 में भाजपा के रमेश मेंदोला की जीत का सबसे बड़ा रिकॉर्ड बना, वहां भी नोटा को विकल्प के रूप में चुनने वालों की कमी नहीं रही।

सभी विधानसभा क्षेत्रों में आधे से लेकर 1% मतदाताओं ने अपनी पहली पसंद नोटा होना साबित किया। देखा गया है कि मतदाता उम्मीदवार या पार्टी को लेकर अपनी नाराजी के कारण ‘नोटा’ का प्रयोग करते हैं। कई सीटें तो ऐसी भी रहीं जहां ‘नोटा’ को मिले वोट यह निर्दलियों से ज्यादा रहे और ‘नोटा’ तीसरे नंबर पर रहा।

इंदौर-1 में 1384 वोट नोटा के खाते में गए तो इंदौर-2 में सबसे ज्यादा 2142 वोट नोटा को मिले। इंदौर-3 में 1117 वोट नोटा के खाते में दर्ज हुए। इंदौर-4 में 1986, इंदौर-5 में 1549, राऊ में 2104, महू में 1553, सांवेर में 2119 और देपालपुर में 1151 वोट नोटा में गए।