Wednesday, July 24, 2019

साहित्य

【जाने स्त्रियां कैसे यह अभ्यास करतीं हैं】

【जाने स्त्रियां कैसे यह अभ्यास करतीं हैं】

मीडियावाला.इन। 1. अचानक एकदिन  स्त्रियां साड़ी पहनने लगतीं हैं और उसे पहनकर तेज-तेज चलने लगतीं हैं वे उसी साड़ी के एक छोर से अपना पूरा मुंह ढंक लेतीं हैं और मुंह ढंके-ढंके चलने लगतीं हैं जाने स्त्रियां कैसे यह...

कहानी - फैसला

कहानी - फैसला

1 आम तौर पर वे बेचैन रहते हैं। कुटुम्ब न्यायालय (फेमिली कोर्ट) में चल रहे संबंध विच्छेद के मामले की सुनवाई करते हुये लग रहा है अब तक ऐसे बेचैन नहीं थे जैसे अब...

यात्रा संस्मरण  ड्रीम ऑफ़ लाइफ द गोल्डन गेट ब्रिज- सेन फ्रांसिस्को

यात्रा संस्मरण ड्रीम ऑफ़ लाइफ द गोल्डन गेट ब्रिज- सेन फ्रांसिस्को

मीडियावाला.इन। में एक कहानी सुनी थी एक गाँव में एक बार तूफान आया और कई पेड़ गिर पड़े| तूफ़ान थमने पर लोगों ने देखा नदी किनारे वाला विशाल वृक्ष उखड़ कर गिर गया था| नदी के पाट को पार कर...

आहत  है  मन

आहत है मन

मीडियावाला.इन। काँप उठती है भीतर तक रूह  थम जाती है कलम  आहत है मन । कैसी प्रगति है!  अखबार के मुखपृष्ठ की प्रथम पंक्ति  शर्मसार करती खबर,  हिम्मत कर पृष्ठ पलटा  साधु द्वारा सतत्...

गुलाब के बहाने।

गुलाब के बहाने।

मीडियावाला.इन। हर जगह नहीं उगता गोखरू  हर जगह नहीं पाई जाती है  कटेरी  बबूल के लिए भी  निश्चित है स्थान।  परन्तु हो सकता है गुलाब  अधिकतर हर जगह ...

गुड़ की डली

गुड़ की डली

मीडियावाला.इन। दस बरस की पायल सहेलियों के साथ रस्सी कूद रही है। खपरैल गाँव में, तपते बंुदेलखंड की लाल माटी पर, लू धूल के नन्हे भँवर बना रही है जैसेछोटी लड़कियों को खेलता देख वो भी अपना खेल लिए आ...

मध्य प्रदेश चुनाव में किसकी कुंडली है दमदार,क्या फिर राज करेंगे शिवराज !

मध्य प्रदेश चुनाव में किसकी कुंडली है दमदार,क्या फिर राज करेंगे शिवराज !

सचिन मल्होत्रा मध्य प्रदेश में चुनाव संपन्न हो चुका है और अब 11 दिसंबर को उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला आएगा जब मतों की गिनती होगी। तमाम चुनावी गणित बता रहे हैं कि इस साल मध्य प्रदेश में...

निर्मोही

निर्मोही

मीडियावाला.इन।ममता कालिया        बाबा की पुरानी कोठी। लम्बे-लम्बे किवाड़ों वाला फाटक, जहाँ...

खांटी घरेलू औरत

खांटी घरेलू औरत

मीडियावाला.इन। देश की ख्यातनाम साहित्यकार ममता कालियाजी के जन्मदिन पर  विशेष  कभी कोई ऊंची बात नहीं सोचती खांटी घरेलू औरत उसका दिन कतर-ब्योंत में बीत जाता है और रात उधेड़बुन में बची दाल के मैं पराठे बना लूं खट्टे...

कितना अकेला आकाश

कितना अकेला आकाश

मीडियावाला.इन।क्लासिक साहित्य शृंखला में सुप्रसिद्ध साहित्यकार श्री नरेश मेहता के यात्रा वृतांत के अंश    ओहरिड, इंदौर या भोपाल जैसा ही छोटा हवाई अड्डा है। छोटे हवाई-अड्डों पर लोग ऐन बाहर फील्‍ड तक आ जाते है, जबकि...

बीमारी, तीमारदारी, दुनियादारी

बीमारी, तीमारदारी, दुनियादारी

मीडियावाला.इन।  सुशील सिद्धार्थ बीमारियाँ जीवन दर्शन के वृक्ष की शाखाएँ हैं। किसी भी शाखा में लटक जाइए किसी न किसी ज्ञान में अटक जाएँगे। बीमार शब्द ही अद्भुत है। अस्वस्थ कहने से हाय हाय के कैनवास पर मुर्दनी, बदहाली, तबाही...

बड़े घर की बेटी

बड़े घर की बेटी

मीडियावाला.इन।   क्लासिक साहित्य शृंखला में आज कथा सम्राट मुंशी प्रेमचंद की  लोकप्रिय कहानी  बेनीमाधव सिंह गौरीपुर गाँव के जमींदार और नम्बरदार थे। उनके पितामह किसी समय बड़े धन-धान्य संपन्न थे। गाँव का पक्का तालाब और मंदिर जिनकी अब...

खोलो , दरवाजा खोलो , मुरलीधर चांदनी वाला

खोलो , दरवाजा खोलो , मुरलीधर चांदनी वाला

मीडियावाला.इन। जहाँपनाह! तुम्हारे सिपहसालार अंदर ठूँस गये हमें  और बाहर से साँकल लगाकर ताला जड़ कर चले गए । दम घुट रहा है,  जान निकल रही है  और तुम हो कि    अपनी जयजयकार में लीन...

कहानी : दूर होती रोशनी 

कहानी : दूर होती रोशनी 

मीडियावाला.इन। दूर होती रोशनी[ पद्मा शर्मा ] बच्चों की लम्बी कतार ...    कई स्कूलों के बच्चे अपनी-अपनी यूनीफॉर्म में पंक्तिबद्ध थे। सपना भी अपने स्कूल की लाइन में खड़ी थी। दो घण्टे व्यतीत हो गये लाइन में खड़े...

कुछ बात है कि गाली मिटती नहीं हमारी

कुछ बात है कि गाली मिटती नहीं हमारी

मीडियावाला.इन। कुछ दिन पहले  तेरह साल के एक बच्चे की प्रतिभा जान कर मैं खुशी से बेजान सा हो गया।इस बच्चे नेपरीक्षा में कम नंबर आने पर अपने ही अपहरण की सफल योजना बनाई थी।पुलिस की मूर्खता सेयोजना असफल हो ...

मंच वाले सरोजकुमार के इस कवि रूप ने चमत्कृत कर दिया

मंच वाले सरोजकुमार के इस कवि रूप ने चमत्कृत कर दिया

कवि सरोजकुमार का ‘शब्द तो कुली हैं’ काव्य संग्रह करीब तीन साल पहले प्रकाशित हो चुका है, ज्यादातर साहित्यकारों ने उनके इस संग्रह को पढ़ा भी है लेकिन उसी संग्रह से जब सरोज कुमार कुछ कविताएं सुना रहे थे...

फुगाटी का जूता' को लब्धप्रतिष्ठित अमर उजाला शब्द छाप सम्मान-2018

फुगाटी का जूता' को लब्धप्रतिष्ठित अमर उजाला शब्द छाप सम्मान-2018

मीडियावाला.इन। पहले अमर उजाला शब्द सम्मान 2018 के विजेताओं की घोषणा कर दी गई है। शब्द सम्मान प्रतिवर्ष एक विशेष समारोह में प्रदान किए जाएंगे। इसके तहत अमर उजाला फाउंडेशन की ओर से साहित्य में सतत और...

खच्च् !! - मौत के अपराजेय जबड़े ने कौर भरा; अबकी एक आकर्षक युवा ज़िन्दगी निवाला है।

खच्च् !! - मौत के अपराजेय जबड़े ने कौर भरा; अबकी एक आकर्षक युवा ज़िन्दगी निवाला है।

मीडियावाला.इन। इंजीनियर गुलाल अपनी हालिया षुरू साॅफ़्टवेयर कम्पनी के दफ़्तर में रात तीन बजे तक काम करता रहा था। एक बड़े सरकारी प्रोजेक्ट के लिए उसने इतनी तैयारी की है कि अब किसी दूसरी कम्पनी को ये...