Thursday, January 23, 2020
आरती से पूछा- लॉकर व आईएएस अफसर से मिले पैसे कहां गए?

आरती से पूछा- लॉकर व आईएएस अफसर से मिले पैसे कहां गए?

मीडियावाला.इन।

भोपाल . आयकर विभाग की इन्वेस्टिगेशन विंग ने हनी ट्रैप मामले की दूसरी अहम किरदार आरती दयाल से पूछा है कि एसआईटी ने उसका जो लॉकर खुलवाया था, वह खाली कैसे हो गया। गिरफ्तारी से दो दिन पहले वह अपना सारा पैसा निकालकर कहां ले गई। आईएएस अफसर से मिले 33 लाख रुपए कहां गए?


आयकर विभाग की इन्वेस्टिगेशन विंग ने आयकर अधिनियम के सेक्शन 131 के तहत इंदौर जेल के जेलर को समन भेजकर आरती को पूछताछ के लिए भोपाल भेजने की व्यवस्था करने को कहा था। इसके बाद मंगलवार को आरती दयाल सुबह 11.30 बजे आयकर के दफ्तर पहुंची। हनी ट्रैप मामले की दूसरी अहम किरदार आरती दयाल से 6.30 घंटे पूछताछ की गई। आरती कुल 7 घंटे तक आयकर दफ्तर रहीं। बीच में उसे आधे घंटे का लंच ब्रेक दिया गया। आरती से इंदौर नगर निगम के अधिकारी हरभजन सिंह और एक आईएएस से एक करोड़ रुपए नकद लिए जाने के मामले के साथ 5 साल में किए गए सभी वित्तीय लेन-देन के बारे में पूछताछ की गईसूत्रों ने बताया कि विभाग ने एसआईटी से मिली जानकारी के साथ आरती दयाल के पांच साल में किए गए सारे वित्तीय लेनदेन की जानकारियां एकत्र की थीं।

 

इसमें सैकड़ों एंट्रीज शामिल थीं, जिनमें अलग-अलग सोर्स से पैसा आना दिखाया गया था। आरती से पैसा देने वाले सभी लोगों की जानकारी मांगी गई। इस जानकारी के आधार पर विभाग आने वाले दिनों में और लोगों से पूछताछ करेगा। कई प्रभावशाली लोगों को भी इसी सेक्शन के तहत समन जारी किए जाएंगे। आरती और श्वेता विजय मिलकर ब्लैकमेलिंग गैंग चला रहीं थी। इसलिए श्वेता विजय द्वारा सोमवार को दिए गए बयानों के आधार पर भी आरती से ढेर सारे सवाल किए गए।

0 comments      

Add Comment