Furious Muslim Community : मुस्लिम समुदाय धर्म विरोधी नारे लगाने पर भड़का!

घेराव के बाद मामला दर्ज, पुलिस कमिश्नर ने कहा कि कार्रवाई होगी!  

836

Indore : मुस्लिम समुदाय धर्म विरोधी नारे लगाने पर भड़क गया। मुस्लिमों ने पहले चंदन नगर और फिर छत्रीपुरा थाने का घेराव किया। शाहरुख खान की फिल्म ‘पठान’ का विरोध करने वाले हिंदूवादी युवाओं ने कुछ आपत्तिजनक नारे लगाए, जिसके बाद मुस्लिम समुदाय सड़क पर आ गया। जानकारी के मुताबिक, पुलिस ने 5 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। पुलिस कमिश्नर हरिनारायण चारि मिश्र ने भी इस बात की पुष्टि की है।

 

‘पठान’ फिल्म के विरोधियों के खिलाफ बुधवार दोपहर मुस्लिम समुदाय के युवा बड़ी संख्या में पहले चंदन नगर थाने पहुंचे। उन्होंने यहां धर्म विरोधी नारे लगाने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की। लेकिन, पुलिस ने कहा कि ये मामला छत्रीपुरा थाने में आता है। इसलिए वहीं जाएं, तब मुस्लिम युवकों का एक दल छत्रीपुरा थाने पहुंचा। यहां पुलिस ने अज्ञात युवकों पर धारा 505 के तहत केस दर्ज कर लिया है।

यह घटना शाहरुख खान की फिल्म ‘पठान’ के विरोध प्रदर्शन के बाद शुरू हुआ। बुधवार को फिल्म रिलीज होने से पहले ही हिंदूवादी संगठन के कार्यकर्ता सिनेमाघरों और मल्टीप्लेक्स के बाहर विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। इस दौरान कस्तूर टॉकीज में बजरंग दल के विभाग संयोजक तन्नू शर्मा के नेतृत्व में कार्यकर्ता विरोध प्रदर्शन व नारेबाजी की।

यहीं भीड़ में से किसी ने धर्म विरोधी नारेबाजी की। कुछ ही देर में यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। वीडियो के वायरल होने के कुछ ही देर बाद बड़ी संख्या में मुस्लिम युवक चंदन नगर थाने पहुंचे। वे नारेबाजी करने वालों के खिलाफ केस दर्ज करने की मांग कर रहे थे।

चंदन नगर पुलिस ने छत्रीपुरा थाने भेजा

चंदन नगर थाने पर प्रदर्शन करने के लिए पार्षद रफीक खान, सरफराज अंसारी सहित बड़ी संख्या में युवा पहुंचे थे। पुलिस ने बताया कि घटनास्थल यानी कस्तूर सिनेमा चंदन नगर में नहीं छत्रीपुरा में आता है। इसलिए युवाओं से कहा गया कि वे छत्रीपुरा थाने जाएं। पुलिस की समझाइश के बाद मुस्लिम युवाओं का एक प्रतिनिधिमंडल छत्रीपुरा थाने पहुंचा। यहां पुलिस ने शिकायतकर्ताओं से आवेदन लिया है।

विवाद करने वालों ने ही नारे लगाए

इस मामले में बजरंग दल के विभाग संयोजक तन्नू शर्मा ने कहा कि उनका विरोध शाहरुख खान की फिल्म ‘पठान’ को लेकर है। बजरंग दल या हमारे किसी भी कार्यकर्ता ने किसी धर्म को लेकर नारेबाजी नहीं की। हमारे बीच किसी जिहादी मानसिकता वाले ने आकर नारे लगाए और वीडियो बनाकर वायरल किया। नारेबाजी करने वाला सांप्रदायिक सौहार्द्र बिगाड़ना चाहता है।