इमरान खान ने फिर छेड़ा युद्ध राग, कहा- पाकिस्तान भारत को करारा जवाब देने के लिए तैयार

इमरान खान ने फिर छेड़ा युद्ध राग, कहा- पाकिस्तान भारत को करारा जवाब देने के लिए तैयार

मीडियावाला.इन।

कश्मीर को लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर किरकिरी से बौखलाया पाक युद्ध की चेतावनी दे रहा है। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को भारत और पाकिस्तान के बीच मौजूदा तनाव पर कहा कि पाकिस्तान युद्ध नहीं चाहता है, लेकिन दुश्मन को पूरी तरह से जवाब देने के लिए तैयार है। रक्षा और शहीद दिवस के अवसर पर जारी अपने संदेश में इमरान ने कहा कि, भारत के साथ 1965 के युद्ध में पाकिस्तानी सैनिकों के बलिदानों को याद करने के लिए यह दिवस हर साल मनाया जाता है। पाकिस्तान अपने दुश्मन देश के साथ फिर से उसी तरह की स्थिति का सामना कर रहा है, दुश्मन देश नियंत्रण रेखा पर आक्रामकता दिखा रहा है और कश्मीर की स्थिति बदल रही है। पाकिस्तान के लिए कश्मीर गले की हड्डी बना हुआ है। कश्मीर की स्थिति बदलने से पाकिस्तान की सुरक्षा और अखंडता को चुनौती मिलती है। खान ने अपने संदेश में भारत पर आरोप लगाते हुए कहा कि कश्मीर के लोगों पर आतंक का शासनकाल चल रहा है।

ऐसे में अपनी ओर से, एक राष्ट्र के रूप में दुश्मन द्वारा किसी भी तरह के दुस्साहस के लिए पूरी तरह से तैयार हैं और इसका जवाब देंगे...। मैंने पूरी दुनिया को सूचित किया है कि पाकिस्तान युद्ध नहीं चाहता है। लेकिन ऐसे समय में जब हमारी सुरक्षा और अखंडता को चुनौती मिल रही हो, पाकिस्तान बेखबर नहीं रह सकता है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान दुश्मन को पूरी तरह से करारा जवाब देने के लिए तैयार है।

सेना के मीडिया विंग ने एक संक्षिप्त बयान में कहा कि इमरान खान और बाजवा ने शुक्रवार को नियंत्रण रेखा के पास जाकर स्थिति का जायजा लिया है। उनके साथ रक्षा मंत्री परवेज खट्टक और विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी भी थे।

भारत के संसद द्वारा पांच अगस्त को जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जा को खत्म करने के बाद से पाकिस्तानी नागरिकों और सैन्य नेतृत्व ने भारत के खिलाफ बयानबाजी की जंग शुरू कर दी है। भारत ने राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों - जम्मू -कश्मीर और लद्दाख में बांटने का भी फैसला किया है। इसके बाद से ही इस्लामाबाद ने युद्ध का राग आलापना शुरू कर दिया है।

वहीं एक अलग संदेश में, पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर बाजवा ने कश्मीर को पाकिस्तान के पूरा होने का एक अधूरा एजेंडा बताया। साथ ही कहा कि पाकिस्तान की अवाम और हमारी सेना अपने कश्मीरी भाइयों के लिए कुछ भी बलिदान करने के लिए तैयार हैं। तिलमिलाए पाक सेनाध्यक्ष ने भारत के खिलाफ आखिरी गोली तक लड़ने की धमकी दे डाली।

रावलपिंडी के जनरल मुख्यालय में रक्षा और शहीद दिवस के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बाजवा ने भारत को गीदड़ भभकी देते हुए कहा कि वह कश्मीर मुद्दे पर किसी भी हद तक जाएंगे। उन्होंने अपने देश के इतिहास के खिलाफ बयान दिया कि पाकिस्तान दुनिया को शांति और सुरक्षा का संदेश दे रहा है।

1971 के युद्ध में 93 हजार पाक सैनिकों के भारत के समक्ष आत्मसमर्पण करने की बात भूलते हुए बाजवा ने शेखी बघारी कि उनका सैनिक आखिरी गोली तक कश्मीर के लिए लड़ेगा।

पूरे विश्व में आतंक की फैक्ट्री के रूप में जाना जाने वाले पाकिस्तान ने खुद को आतंक से पीड़ित भी बताया। बाजवा ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ युद्ध में पाकिस्तान ने अपनी जिम्मेदारियों को पूरा किया है। अब विश्व समुदाय आतंकवाद और अतिवाद के सभी रूपों को खारिज करे।

Source : "अमर उजाला" 

0 comments      

Add Comment