वीडियो: अम्फान तूफान ने मचाई भीषण तबाही, कोलकाता एयरपोर्ट 'डूब' गया

वीडियो: अम्फान तूफान ने मचाई भीषण तबाही, कोलकाता एयरपोर्ट 'डूब' गया

मीडियावाला.इन।

नई दिल्ली: अम्फान तूफान ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा में भारी तबाही मचाई है। अम्फान तूफान की वजह से जहां करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ है वहीं कई लोगों की जान भी चली गई है। राज्य में अबतक 10-12 लोगों के मौत की पुष्टि की जा चुकी है।

अम्फान से कोलकाता में कई जगहें डूब गईं। इससे यहां का एयरपोर्ट भी अछूता नहीं रहा। तेज हवाओं से एयरपोर्ट का कुछ हिस्सा प्रभावित हुआ है। रनवे का नजारा किसी विशाल नदी जैसा नजर आ रहा है। हैंगर्स एरिया में भी पानी भरा नजर आया। यहां कई विमान पार्किंग एरिया में खड़े हैं और वहीं पास में बारिश व तूफान के कारण खूब पानी जमा हुआ है।

वीडियो में दिखाई दे रहा है कि कोलकाता एयरपोर्ट का काफी बड़ा भाग जलमग्न हो चुका है। पानी यहां कंधों तक भरा हुआ है। साथ ही रनवे पर निगरानी व मेंटेनेंस के लिए बनाए गए कई केबिनों के भी परखच्चे उड़ गए हैं। साथ ही ये भी जलमग्न हो चुके हैं। कुछ लोग इसका वीडियो बनाते दिखाई दिए।

ANI@ANI

West Bengal: A portion of Kolkata Airport flooded in wake of

1,009

Twitter Ads info and privacy

362 people are talking about this

कोलकाता एयरपोर्ट पर लोगों ने ऐसा पहली बार देखा। अम्फान तूफान की रफ्तार के आगे 40-40 टन के जहाज भी थरथरा रहे थे। उनके पहियों के लिए चोक्स (अवरोधक) लगाए गए थे जिससे वे हवा में इधर-उधर हिलकर एक दूसरे को नुकसान न पहुंचा दें।

ANI@ANI

West Bengal: A portion of Kolkata Airport flooded in wake of .

View image on TwitterView image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

1,053

Twitter Ads info and privacy

271 people are talking about this

अम्फान के कारण एयरपोर्ट पर सभी परिचालन आज सुबह 5 बजे तक बंद कर दिए गए थे, जो अभी भी बंद हैं। कोलकाता एयरपोर्ट पर यात्री उड़ानें 25 मार्च से ही निलंबित है। केवल कार्गो और वंदे भारत मिशन के तहत आने-जाने वाली उड़ानें चल रही थी। उन्हें भी अभी रोक दिया गया है।

गौरतलब है कि बंगाल में समुद्र तट से टकराने के वक्त अम्फान तूफान की रफ्तार 180 किमी प्रति घंटे से ज्यादा गो गई थी। कई घंटे बाद तक कोलकाता शहर में 130 किमी प्रति घंटे की तक की रफ्तार से हवाएं चलती रहीं। अम्फान का सबसे ज्यादा कहर पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना, दक्षिणी 24 परगना, मिदनापुर और कोलकाता में रहा. तूफान के टकराने के वक्त दीघा में सीधे खड़े हो पाना भी मुमकिन नहीं था।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का कहना है कि इस तूफान ने राज्य में कई सौ करोड़ का नुकसान किया है। साथ ही राज्य के कई हिस्सों में अब भी बिजली गुम है व कई लोगों की जान जा चुकी है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बताया कि ऐसा तूफान इससे पहले 283 साल पहले सन 1737 में आया था।

Dailyhunt

0 comments      

Add Comment