बर्णवाल सहित कई अधिकारी बदले जाएंगे, मंत्रालय में प्रशासनिक सर्जरी की तैयारियां शुरू

बर्णवाल सहित कई अधिकारी बदले जाएंगे, मंत्रालय में प्रशासनिक सर्जरी की तैयारियां शुरू

मीडियावाला.इन।

भोपाल: मध्य प्रदेश में नई सरकार बनने के बाद मंत्रालय में प्रशासनिक सर्जरी की तैयारियां शुरू हो गई है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रारंभिक तौर पर कुछ अधिकारियों को ही बदला जाएगा। माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अशोक वर्णवाल अब लगातार प्रमुख सचिव नहीं रहेंगे और उनके हटाए जाने की खबर है। इसी प्रकार मुख्यमंत्री सचिवालय के दूसरे प्रमुख सचिव फैज अहमद किदवई को भी हटाया जाने की बात चर्चा में हैं। 
बताया जा रहा है कि नगरीय प्रशासन विभाग के प्रमुख सचिव संजय दुबे और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के प्रमुख सचिव संजय शुक्ला मुख्यमंत्री सचिवालय में मुख्य भूमिका में आ रहे हैं।  कमलनाथ के निकट माने जाने वाले अपर मुख्य सचिव एसीपी केसरी, प्रमुख सचिव मनु श्रीवास्तव के भी प्रभार में भी कमी की जा सकती है। कुछ और अपर मुख्य सचिव के दायित्वों में फेरबदल किया जा सकता है। अपर मुख्य सचिव जेएन कंसोटिया, प्रमुख सचिव राजेश राजौरा को महत्वपूर्ण प्रभार मिलने की चर्चा है। 

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री के सचिव रहे नंदकुमारम , वर्तमान सचिव सेलवेंद्रम और बी चंद्रशेखर के साथ ही उप सचिव अरविंद दुबे लगातार बने रहेंगे। बताया गया है कि इन सभी अधिकारियों को शिवराज पसंद करते हैं। मुख्यमंत्री की ओएसडी आईपीएस अधिकारी प्रज्ञा रिचा श्रीवास्तव और उप सचिव अनुराग सक्सैना को हटाया जा रहा है। नीरज वशिष्ठ और मनीष पांडे की वापसी जल्द हो रही है। वशिष्ठ और पांडे वैसे भी पिछले काफी समय से शिवराज के स्टाफ में हैं और उनके सबसे विश्वसनीय अधिकारी माने जाते हैं।  रिटायर आईएएस अरुण भट्ट की भी बतौर ओएसडी वापसी की संभावना है।

मंत्रालय में चल रही चर्चा पर भरोसा किया जाए तो कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए फिलहाल किसी कलेक्टर को टच नहीं किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पूर्व में तीन पारियों में 13 साल तक इस प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हैं और वे अधिकारियों की कार्य क्षमता को व्यक्तिगत रूप से कई बार देख चुके हैं, जान चुके हैं। इसी प्रकार मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस की प्रशासनिक क्षमता का लोहा सब मानते हैं। इसलिए चौथी पारी में शिवराज और इकबाल, दोनों मिलकर इस प्रदेश में ऐसी प्रशासनिक जमावट करेंगे जो हर दृष्टि से कारगर सिद्ध होगी।         

0 comments      

Add Comment