चंबल के सियासी इतिहास में आज बड़ा दिन, सिंधिया जा रहे हैं जयभान के घर, दोनों घोर विरोधी रहे हैं

चंबल के सियासी इतिहास में आज बड़ा दिन, सिंधिया जा रहे हैं जयभान के घर, दोनों घोर विरोधी रहे हैं

मीडियावाला.इन।

Bhopal, MP: कहा जाता है राजनीति में पूर्वानुमान लगाना हमेशा सही साबित नहीं होता है।जब 1977 की मोरारजी सरकार में भाजपा और कम्युनिस्ट एक ही सरकार के हिस्से हो सकते हैं तो माना जाना चाहिए की राजनीति में कभी दुश्मन भी दोस्त हो जाएं तो चौंकना नहीं चाहिए। इसी तरह का एक अजीबोगरीब घटनाक्रम आज ग्वालियर चंबल संभाग में होने जा रहा है जब भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया किसी जमाने में उनके घोर विरोधी रहे जय भान सिंह पवैया के घर जा रहे हैं।मौका ही ऐसा है।

दरअसल सिंधिया आज पवैया के घर उनके पिता के निधन पर शोक संवेदना व्यक्त करने जा रहे हैं। 
सब जानते हैं कि सिंधिया के कांग्रेस में रहते जय भान उनके कट्टर विरोधी थे। थोड़ा सा पीछे जाकर यदि  देखें तो पता चल जाएगा कि दोनों ने एक दूसरे के बारे में क्या क्या नहीं कहा है। पर अब समय ने करवट ले ली है और दोनों एक साथ,एक दल में गलबहियां डाले देखें जाएंगे।
सियासी इतिहास में दोनों की मुलाकात पहली बार होगी। 
प्राप्त जानकारी के अनुसार सिंधिया बीजेपी के सभी नेताओं से अपनी मेल मुलाकात बढ़ा रहे हैं। वे भोपाल में भी कई नेताओं से मिले। इसी क्रम में वे ग्वालियर और चंबल क्षेत्र में भी बीजेपी के  नेताओं से अपनी नजदीकियां बढ़ा रहे हैं। जय भान से मिलने का मामला भी इसी क्रम में देखा जा रहा है। निश्चित तौर पर ज्योतिरादित्य सिंधिया द्वारा की जा रही ये मुलाक़ातें आने वाले राजनीतिक क्षितिज पर नये सूर्य के उदय का संकेत कहा जाए तो गलत नहीं होगा।

0 comments      

Add Comment