Monday, December 09, 2019
फ़ीनिक्स एक बेहद रंगीन पक्षी है जिसकी दुम सुनहरी या बैंगनी होती है

फ़ीनिक्स एक बेहद रंगीन पक्षी है जिसकी दुम सुनहरी या बैंगनी होती है

मीडियावाला.इन।एक प्राचीन मिथक ज्वलन्त-पक्षी है जो अरब, ईरानी, यूनानीरोमनमिस्र, चीनी और भारतीय मिथकों व दंतकथाओं में पाया जाता है       

फ़ीनिक्स एक बेहद रंगीन पक्षी है जिसकी दुम सुनहरी या बैंगनी होती है (कुछ कथाओं के अनुसार हरी या नीली). इसका जीवनचक्र ५०० से १००० वर्षों का होता है जिसके अंत में यह खुद के इर्द-गिर्द लकडियों व टहनियों का घोसला बनाकर उसमें स्वयं जल जाता है। घोसला और पक्षी दोनों जल कर राख बन जाते हैं और इसी राख से एक नया फ़ीनिक्स या उसका अंडा पुनर्जन्म लेता है। इस नए जन्मे फ़ीनिक्स का जीवन काल पुराने फ़ीनिक्स जितना ही होता है। कुछ कथाओं के अनुसार नया फ़ीनिक्स अपने पुराने रूप की राख एक अंडे में भर कर मिस्र के शहर हेलिओपोलिस (जिसे यूनानी भाषा में "सूर्य का शहर" कहते हैं) में रख देता है। यह कहा जाता है कि इस पक्षी की चिख़ के मधुर गीत जैसी होती है। अपने ही राख से पुनर्जन्म लेने की काबलियत के कारण यह माना जाता है कि फ़ीनिक्स अमर है हालांकि कुछ कहानियों के अनुसार नया फ़ीनिक्स पुराने का बच्चा होता है। कुछ प्राचीन कहानियों के अनुसार ये मानवों में तबदील होने की काबलियत रखते हैं।

फिनिक्स पक्षी- India TV

आप घर में किसी भी पक्षी की तस्वीर या मूर्ति लगा सकते हैं, लेकिन अगर फिनिक्स पक्षी की तस्वीर हो तो और भी अच्छा है। फिनिक्स पक्षी पॉजिटिव ऊर्जा, प्रसिद्धि और विकास का प्रतिनिधित्व करता है। इस पक्षी की तस्वीर अथवा मूर्ति को घर में रखने से सफलता के रास्ते में आ रही कठिनाईयों से बाहर निकलने में आसानी होती है। यह व्यक्ति को अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिये सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करती है। इससे व्यक्ति में अपने काम के प्रति एक नई उमंग, एक नई आशा आ जाती हैइस पक्षी के विषय में ऐसी मान्यता है कि यह शक्ति प्रदान करने वाली तथा प्रगति और विकास का सूचक है। वास्तु शास्त्र में ऐसा माना जाता कि फिनिक्स पक्षी की तस्वीर घर में लगाने से नकारात्मक उर्जा का नाश होता है। इस पक्षी के चित्र को कार्यस्थल और व्यवसाय स्थल पर भी लगा सकते हैं। इस तस्वीर की ये क्षमता है कि आपके आसपास मौजूद नकारामक उर्जा को सकारात्मक उर्जा में परिवर्तित कर देता है।

 

 

 

0 comments      

Add Comment