देश में कोरोना विस्‍फोट, 24 घंटों में एक लाख 45 हजार से ज्‍यादा केस, 794 की मौत, कई राज्‍यों ने बढ़ाई पाबंदियां

देश में कोरोना विस्‍फोट, 24 घंटों में एक लाख 45 हजार से ज्‍यादा केस, 794 की मौत, कई राज्‍यों ने बढ़ाई पाबंदियां

मीडियावाला.इन।

नई दिल्ली,  देश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर की रफ्तार पर रोक नहीं लग पा रही है। स्थिति दिन प्रति दिन गंभीर हो रही है। नए मामलों के रोज नए रिकॉर्ड बन रहे हैं। पिछले तीन दिनों से लगातार एक लाख से ज्यादा नए मामले मिल रहे हैं, वैसे पिछले पांच दिनों में चार दिन एक लाख से ज्यादा संक्रमित पाए गए हैं। सक्रिय मामले साढ़े दस लाख के करीब पहुंच गए हैं, इनमें से भी केवल पांच राज्यों में ही 72 फीसद से ज्यादा नए एक्टिव केस हैं। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए कई राज्‍यों ने पाबंदियां बढ़ा दी हैं।

मध्‍य प्रदेश सरकार ने बढ़ाया लॉकडाउन

मध्‍य प्रदेश सरकार ने कई शहरों में लॉकडाउन को बढ़ाने का फैसला किया है। इंदौर समेत कई शहरों में लॉकडाउन को 19 अप्रैल तक बढ़ाया गया है। वहीं बालाघाट, नरसिंहपुर और सिवनी जिलों में 12 अप्रैल की रात से 22 अप्रैल की सुबह तक लॉकडाउन लगाया गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि राज्‍य में जिस रफ्तार से संक्रमण बढ़ रहा है उससे महीने के अंत तक सक्रिय मरीजों की संख्या एक लाख तक पहुंच सकती है।

दिल्ली सरकार ने सख्‍त की पाबंदियां

दिल्ली सरकार ने कोरोना के मामलों की रोकथाम के लिए शनिवार को सख्त पाबंदियों की घोषणा की। राज्‍य सरकार की ओर से जारी निर्देशों के मुताबिक मेट्रो, डीटीसी और क्लस्टर बसों को 50 फीसद क्षमता के साथ संचालित करने की अनुमति दी गई है। शादी समारोह में 50 मेहमान ही शामिल हो सकेंगे। राज्‍य सरकार ने सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक एवं धार्मिक सभाओं पर भी रोक लगा दी है।

लॉकडाउन कोई विकल्प नहीं : केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि लॉकडाउन कोई विकल्प नहीं है लेकिन राष्ट्रीय राजधानी में कुछ प्रतिबंध लगाए जाएंगे। दिल्‍ली के सर गंगाराम अस्‍पताल के 37 डॉक्टर संक्रमित हो गए हैं। यही नहीं एम्स में भी कई डॉक्टरों को कोरोना संक्रमण हो गया है। दिल्‍ली में एहतियात के तौर पर सभी सरकारी और निजी स्कूलों को अगले आदेश तक बंद कर दिया गया है। दिल्ली में शुक्रवार को कोरोना के 8,521 नए मामले सामने आए जबकि 39 लोगों की मौत हो गई।

उत्‍तराखंड ने उठाया यह कदम

इस बीच उत्तराखंड सरकार ने हरियाणा से आने वाली रोडवेज की बसों के राज्‍य में प्रवेश करने पर रोक लगा दी है। देहरादून और उत्तराखंड की तरफ हरियाणा से जाने वाली बसें केवल सीमा तक जाएंगी और वहीं से वापसी करेंगी। सभी यात्रियों से बस स्टैंड परिसर में कोरोना से जुड़े दिशानिर्देशों का पालन करने को कहा गया है।

महाराष्‍ट्र में वीकेंड लॉकडाउन से सूनी पड़ी सड़कें

महाराष्ट्र में वीकेंड लॉकडाउन लगाया गया है। शनिवार को मुंबई, पुणे, औरंगाबाद तथा नागपुर समेत राज्य के अधिकतर हिस्सों में सड़कें और बाजार सुने पड़े नजर आए। राज्‍य में वीकेंड लॉकडाउन एवं अन्य पाबंदियां 30 अप्रैल तक जारी रहेंगी। महाराष्ट्र सरकार ने बीते सोमवार से नाइट कर्फ्यू लागू कर दिया है।

कर्नाटक में 11 दिन का 'कोरोना कर्फ्यू'

कर्नाटक के कुछ जिलों में शनिवार रात से 11 दिन का 'कोरोना कर्फ्यू' लगाया गया है। इस दौरान केवल जरूरी सेवाओं से जुड़े लोगों, रोगियों और यात्रियों को आवाजाही की अनुमति होगी। राज्‍य सरकार ने बेंगलुरु, मैसूरु, मंगलुरु, कलबुर्गी, बीदर, तुमकुरु और उडुपी-मणिपाल शहरों में 10 से 20 अप्रैल तक रात 10 बजे से सुबह पांच बजे के बीच कोरोना कर्फ्यू लगाने की घोषणा की है।

यूपी, राजस्‍थान, छत्तीसगढ़ और पंजाब में सख्‍त पाबंदियां

राजस्थान के जोधपुर में 6 से 19 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू जबकि चित्तौड़गढ़ जिले में धारा-144 लागू है। वहीं छत्तीसगढ़ के रायपुर में 9 से 19 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन है। पंजाब सरकार ने राज्य के सभी जिलों में 30 अप्रैल तक नाइट कर्फ्यू लगाया है। यूपी के कई जिलों में नाइट कर्फ्यू लागू है। इसमें लखनऊ, नोएडा, गाजियाबाद, कानपुर, वाराणसी, प्रयागराज, मेरठ और बरेली शामिल हैं। नोएडा और गाजियाबाद में सभी शिक्षण संस्थान 17 अप्रैल तक बंद हैं।

24 घंटों में 1,45,384 नए मामले

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से शनिवार सुबह आठ बजे अपडेट किए गए आंकड़ों के मुताबिक बीते 24 घंटों में देश में 1,45,384 नए मामले मिले हैं, जिसमें सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में 58,993 और छत्तीसगढ़ में 11,447 मामले शामिल हैं। इस दौरान 794 और लोगों की मौत भी हुई है। संक्रमितों का आंकड़ा 1.32 करोड़ को पार कर गया है। इनमें से 1.19 करोड़ से अधिक मरीज ठीक हो चुके हैं और 1,68,436 लोगों की अब तक मौत भी हो चुकी है।

रिकवरी रेट गिरी

देश में मरीजों की रिकवरी रेट गिरकर 90.80 फीसद पर आ गई है जबकि मृत्युदर 1.28 फीसद है। मंत्रालय के मुताबिक सक्रिय मामले 10,46,631 हो गए हैं, जो कुल संक्रमितों का 7.93 फीसद है। बीते 24 घंटों के दौरान 67 हजार से अधिक सक्रिय मामले बढ़े। पिछले साल जनवरी में देश में इस वैश्विक महामारी के सामने आने के बाद से सक्रिय मामलों की यह सर्वाधिक संख्या है।

72 फीसद केस केवल पांच राज्यों से

कुल संक्रमित मामलों में से 72 फीसद सिर्फ महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश और केरल में ही हैं। इनमें से भी 10 जिलों में ही 45.65 फीसद सक्रिय केस हैं। ये जिले हैं पुणे, मुंबई, ठाणे, नागपुर, औरंगाबाद, नासिक, बेंगलुरु शहरी, दिल्ली, रायपुर और दुर्ग।

शुक्रवार को 11.73 लाख टेस्ट

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) के मुताबिक कोरोना संक्रमण का पता लगाने के लिए शुक्रवार को 11,73,219 नमूनों की जांच की गई। इनको मिलाकर अब तक कुल 25.52 करोड़ से अधिक नमूनों का परीक्षण किया जा चुका है।

इन राज्यों में कोरोना से नई मौत नहीं

मंत्रालय के मुताबिक 12 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना महामारी की वजह से किसी मरीज की मौत नहीं हुई है। ये राज्य और केंद्र शासित प्रदेश हैं-पुडुचेरी, लद्दाख, दमन एवं दीव और दादरा एवं नगर हवेली, नगालैंड, त्रिपुरा, मेघालय, सिक्किम, मिजोरम, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, लक्षद्वीप और अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह।

0 comments      

Add Comment