Samrasata Yatra : संत रविदास की यात्रा शुरू करते भजनों पर खूब झूमे कैलाश विजयवर्गीय!

रविदास ने अपने भजनों में जो कहा सरकार उसी के अनुरूप काम में लगी!

575

Samrasata Yatra : संत रविदास की यात्रा शुरू करते भजनों पर खूब झूमे कैलाश विजयवर्गीय!

धार से वरिष्ठ पत्रकार छोटू शास्त्री की रिपोर्ट

Dhar : संत रविदास की समरसता यात्रा मांडव से शुरू हुई। इस यात्रा को भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने रवाना किया। शुभारंभ अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विजयवर्गीय ने संत रविदास के भजनों को केंद्र और प्रदेश सरकार के कार्यों से जोड़कर उद्बोधन दिया। उन्होंने संत रविदास के भजनों को न सिर्फ गाकर समझाया, बल्कि अपने भाषण की इस नई शैली पर खूब तालिया बटोरी।

समरसता यात्रा का शुभारंभ मांडू में गरिमामय कार्यक्रम के साथ हुआ। मध्यप्रदेश युवा आयोग के अध्यक्ष डॉ निशांत खरे, भाजपा के जिला प्रभारी श्याम बंसल सहित बड़ी संख्या में भाजपा नेता उपस्थित थे। लेकिन, कैलाश विजयवर्गीय ने अपने भाषण केंद्र सरकार की 5 किलो अनाज योजना को संत रविदास के विचारों से प्रेरित बताया। साथ ही ‘सबका साथ, सबका विकास’ को भी संत रविदास के भजन के अनुरूप बताते हुए भजन का अंश प्रस्तुत किया।

भजन के अंश-

रे दाता जात पांत न कोई, जात पांत का रोग मनुष्य का नुकसान है, इसलिए सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास हो, ये सबका प्रयास है। ये संत रविदास का मंत्र है, जो देश के प्रधानमंत्री आज देश के अंदर विकास करके सब लोगों के बारे में सोचते है।

उन्होंने कहा कि सबसे ज्यादा यदि नारियों के सम्मान और उत्थान के लिए योजनाएं अभी कहीं बनी है तो वह मध्यप्रदेश में ही बनी है।

WhatsApp Image 2023 07 25 at 19.21.02

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव ने कहा कि संत शिरोमणि रविदास महाराज का जिन परिस्थितियों में उनका जन्म हुआ और जिस सामाजिक वातावरण में उन्होंने समाज में जागृति के लिए काम किया है, आज भी उस संदेश की आवश्यकता है। मुझे लगता है कि देश के प्रधानमंत्री की योजना हो या प्रदेश के मुख्यमंत्री की योजना हो। ऐसा लगता है कि संत रविदास की प्रेरणा लेकर बहुत सारी योजना बनी। जैसे प्रधानमंत्री अन्न योजना जो कि प्रति व्यक्ति गरीब व्यक्ति को एक किलो अनाज मिलता है। तो संत रविदास ने कहा कि जब सबका मिलेगा अन्न तो रैदास होए प्रसन्न। तो इस प्रकार के संदेश है।

देखिए वीडियो-

कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि मुझे लगता है कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार उस पर काम कर रही है। नारी के विकास के लिए उन्होंने बात की है, नारी की शिक्षा के लिए उन्होंने बात की, तो उस पर प्रदेश की सरकार भी काम कर रही है और केंद्र की सरकार भी काम कर रही है। गरीब कल्याण तो संत रविदास ने कहा है कि समाज का कल्याण तभी हो सकता है जब तक करीब का कल्याण नहीं होगा और गरीब के मन में बैठे हुए राम की पूजा ही वास्तव में राम की पूजा है।

मध्य प्रदेश सरकार भी का काम कर रही है गरीब योजना पर और केंद्र की सरकार भी कर रही है। तो संत शिरोमणि रविदास जी की यात्रा के दौरान मुझे जब संबोधन का अवसर पर मिला तो मैंने कहा कि हमारी सरकार जब प्रदेश की और केन्द्र की है तो ऐसा लगाता है कि संत रविदास जी की प्रेरणा से ही चल रही है। ‘सबको मिले अन्न तो रेदास होए प्रसन्न’ तो सबको अन्न मिलता है तो रविदास को बडी खुशी होती है।