Wednesday, October 16, 2019
आज भी जारी नहीं हो सकी भाजपा की सूची, टिकट वितरण को लेकर कशमकश,आडवाणी,जोशी,शांताकुमार सहित कई वरिष्ठों के टिकट कटे

आज भी जारी नहीं हो सकी भाजपा की सूची, टिकट वितरण को लेकर कशमकश,आडवाणी,जोशी,शांताकुमार सहित कई वरिष्ठों के टिकट कटे

मीडियावाला.इन।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 में पूरे दमखम से ताल ठोक रही भारतीय जनता पार्टी को टिकट वितरण में खासी मशक्कत का सामना करना पड रहा है। पहले चरण में आगामी 11 अप्रैल को 91 सीटों पर मतदान होना है और नामांकन भरने की अंतिम तिथि भी 25 मार्च है, लेकिन इसके बावजूद अभी तक प्रत्याशियों की सूची जारी नहीं हो सकी है। आज नई दिल्ली में केन्द्रीय चुनाव संचार समिति टिकट वितरण को लेकर देर रात तक मंथन कर रही है। अभी तक पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं के टिकट कटने की बात सामने आई है, जबकि छत्तीसगढ के सभी दस वर्तमान सांसदों के भी टिकट काट दिये गये हैं। वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी के अलावा उत्तराखण्ड के दो पूर्व मुख्यमंत्री वीसी खंडूरी व भगत सिंह कोश्यारी को भी टिकट नहीं दिया जा रहा है। लोकसभा चुनाव में टिकट वितरण को लेकर भाजपा में सबसे ज्यादा घमासान मचा हुआ है। कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दलों ने अधिकतर टिकट घोषित कर दिये हैं, जबकि भाजपा में अभी विचार मंथन ही चल रहा है। केन्द्रीय चुनाव संचार समिति की नई दिल्ली में बैठक चल रही है, जिसमें आज देर रात पहले चरण की 91 सीटों समेत लगभग 2०० प्रत्याशियों के नाम फाईनल होने की संभावना जताई जा रही है। भाजपा के वरिष्ठतम नेता व पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी को गांधीनगर, मुरली मनोहर जोशी को कानपुर व उमा भारती को झांसी से इस बार टिकट नहीं दिया जा रहा है।

उत्तर प्रदेश के लगभग डेढ दर्जन वर्तमान सांसदों के काटकर उनके स्थान पर नये चेहरे मैदान में उतारे जाने की तैयारी चल रही है। कानपुर से यूपी सरकार कैबिनेट मंत्री सतीश महाना को दिया जा सकता है। इसी प्रकार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी वाराणसी, गृहमंत्री राजनाथ सिंह लखनऊ, विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह गाजियाबाद, केन्द्रीय जलसंसाधन राज्यमंत्री डा. सतपाल सिंह बागपत, पर्यटन मंत्री डा. महेश शर्मा नोएडा, कपडा मंत्री संतोष गंगवार बरेली, पूर्व मंत्री रामशंकर कठेरिया आगरा व राजेन्द्र अग्रवाल को मेरठ से फिर से मैदान में उतारा जा रहा है।

इसके अलावा छत्तीसगढ में सभी दस वर्तमान सांसदों के टिकट काटकर उनके स्थान नये चेहरे मैदान में उतारे जायेंगे। राजनांदगांव से सांसद व पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के पुत्र का भी टिकट काट दिया गया। इस बार वहां से रमन सिंह को ही चुनाव मैदान में उतारा जा रहा है। हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व कांगडा से सांसद सांता कुमार का भी टिकट काट दिया गया।

उत्तराखण्ड में दोनों पूर्व मुख्यमंत्री वीसी खंडूरी व भगत सिंह कोश्यारी भी इस बार टिकट की रेस से बाहर हो गये हैं। खंडूरी अपने बेटे मनीष खंडूरी को टिकट दिलवाना चाह रहे थे, लेकिन पार्टी हाईकमान ने अपनी मर्जी से टिकट देने की बात कही थी, जिसके बाद मनीष खंडूरी कांग्रेस में शामिल हो गये और इसी कारण वीसी खंडूरी का भी टिकट कट गया। कोश्यारी की जगह अजय भट्ट को नैनीताल से चुनाव लडाया जायेगा। इसी प्रकार पौढी से तिरथ सिंह रावत प्रत्याशी होंगे।

हरिद्वार से वर्तमान सांसद रमेश पोखरियाल निशंक को ही फिर से टिकट दिया जा रहा है, जबकि केन्द्रीय मंत्री अजय टमटा को भी दोबारा टिकट मिलेगा। टिहरी से सांसद रानी माला राजलक्ष्मी को भी दोबारा टिकट दिया जा रहा है। इसके अलावा विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी इस बार विदिशा से चुनाव लडने से इंकार कर दिया है और उनके स्थान पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को पार्टी टिकट दे रही है। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने भी इंदौर से चुनाव लडने से इंकार कर दिया, लेकिन भाजपा हाईकमान उन्हें चुनाव लडवाने का इच्छुक है, जिस पर वे विचार कर रहे हैं। केन्द्रीय चुनाव संचालन समिति की बैठक की समाप्ति के पश्चात लगभग दौ सो प्रत्याशियों के नामों की सूची जारी होने की संभावना है, लेकिन फिलहाल सूची जारी नहीं हो पाई है और बैठक में कई नामों को लेकर विचार-विमर्श चल रहा है। देर रात्रि तक भी सूची जारी न होने पर 20 मार्च को सूची जारी होने की संभावना है।

Dailyhunt

0 comments      

Add Comment