देहली टेस्ट 6 विकेट से जीता, जडेजा ने पूरे मैच में लिए 10 विकेट

बॉर्डर-गावस्कर ट्राफी टीम इंडिया के नाम

677

देहली टेस्ट 6 विकेट से जीता, जडेजा ने पूरे मैच में लिए 10 विकेट

नई दिल्ली:टीम इंडिया ने लगातार चौथी बार बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी अपने नाम कर ली है। भारत ने दिल्ली टेस्ट के तीसरे ही दिन ऑस्ट्रेलिया को 6 विकेट से हरा कर सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर ली है। इसके साथ ही BGT पर भारत का कब्जा बरकरार रहना तय हो गया।

रवींद्र जडेजा भारत की इस जीत के हीरो रहे। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी में 42 रन देकर 7 विकेट लिए। इससे कंगारू टीम सिर्फ 113 रन के स्कोर पर सिमट गई। भारत को जीत के लिए 115 रन का टारगेट मिला, क्योंकि मेहमानों को पहली पारी में एक रन की बढ़त मिली थी। जिसे हमारी टीम ने 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया। चेतेश्वर पुजारा और कप्तान रोहित शर्मा ने 31-31 रन बनाए। विराट कोहली ने 20 रन की पारी खेली। इंडिया ने पहली पारी में 262 और ऑस्ट्रेलिया ने 263 रन बनाए थे।

इस सीरीज में अभी दो टेस्ट मैच बाकी हैं और ऑस्ट्रेलिया इन दोनों को जीतकर 2-2 की बराबरी कर सकता है। पिछली बॉर्डर गावस्कर ट्रॉफी भारत ने जीती थी। दो टीमों के बीच टेस्ट सीरीज जब किसी ट्रॉफी के लिए होती है तो किसी सीरीज के ड्रॉ होने की स्थिति में भी ट्रॉफी उस टीम को मिलती है जिसने पिछली बार इस पर कब्जा जमाया हो। एशेज में भी ऐसा ही होता है।

भारत को मिला 115 रनों का टारगेट 

दूसरे टेस्ट मैच को जीतने के लिए ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को 115 रनों का टारगेट दिया, जिसे भारत ने 4 विकेट खोकर हासिल कर लिया। टीम इंडिया की तरफ से कप्तान रोहित शर्मा शानदार लय में नजर आ रहे थे, उन्होंने 31 रन बनाए, लेकिन उन्हें रन आउट होकर पवेलियन लौटना पड़ा। केएल राहुल एक बार फिर कोई कमाल नहीं दिखा पाए। उन्होंने मैच में 1 रन बनाया। विराट कोहली ने 20 रन बनाए और श्रेयस अय्यर ने 12 रनों की पारी खेली। चेतेश्वर पुजारा 31 रन और केएस भरत 23 रन बनाकर नॉट आउट रहे।

स्पिनर्स ने किया कमाल 

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरी पारी में रवींद्र जडेजा ने कमाल का खेल दिखाया। उन्होंने अपनी गेंदबाजी से सभी का दिल जीत लिया। जडेजा ने दूसरी पारी में 7 विकेट अपने नाम किए। वहीं, रविचंद्रन अश्विन ने 3 विकेट चटकाए। इन दोनों के आगे ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज टिक ही नहीं पाए। स्पिन को खेलने की उनकी कमजोरी सबके सामने आ गई। दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलियाई टीम सिर्फ 113 रन ही बना पाई और पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया ने एक रन की बढ़त ली थी। इस तरह से टीम इंडिया को जीतने के लिए 115 रनों का टारगेट मिला।

ऑस्ट्रेलिया ने 53 रन बनाने में 9 विकेट गंवाए

कंगारू टीम दूसरी पारी में 113 रन पर ऑलआउट हो गई है। ट्रेविस हेड ने सबसे ज्यादा 43 रन बनाए, जबकि मार्नस लाबुशेन 43 रन बनाकर आउट हुए। टीम के 8 बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा पार नहीं कर सके।

भारत की ओर से रवींद्र जडेजा ने 7 विकेट चटकाए। इस सीरीज में जडेजा ने दूसरी बार 5 या फिर उससे ज्यादा विकेट लिए हैं। रविचंद्रन अश्विन को भी तीन सफलताएं मिलीं।

कोहली ने तोड़ा तेंदुलकर का रिकॉर्ड

कोहली इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे तेज 25 हजार रन बनाने वाले बल्लेबाज बन गए। उन्होंने 549 पारियों में यह मुकाम हासिल किया है। कोहली ने सचिन तेंदुलकर के 577 पारियों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ा। वे ऐसा करने वाले दुनिया के छठे बल्लेबाज बने हैं, जबकि भारतीयों में कोहली का नंबर दूसरा है।

संक्षिप्त स्कोर:

ऑस्ट्रेलिया: 263 और 113 31.1 ओवर में ऑल आउट (ट्रेविस हेड 43, मारनस लाबुस्चगने 35; रवींद्र जडेजा 7/42, रविचंद्रन अश्विन 3/59)।

भारत: 262 और 118 रन (रोहित शर्मा 31, चेतेश्वर पुजारा नाबाद 31, नाथन लियोन 2/49)।