गांवों, शहरों के स्कूलों में बच्चों के साथ वृद्धों को खाना खिलाएगी सरकार

57

भोपाल. बच्चों के साथ स्कूलों में गांव और शहरी क्षेत्र में वार्ड में रहने वाले वृद्धजनों को खीर पूड़ी या सब्जी-पूरी हलवा खिलाया जाएगा। इसके लिए स्कूलों के जिम्मेदार शिक्षक ऐसे लोगों को आमंत्रित कर भोजन कराएंगे। प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना के अंतर्गत यह व्यवस्था करने के निर्देश कलेक्टरों और सीईओ जिला पंचायत को दिए गए हैं। जो भोजन बनेगा उसे विकासखंड स्तर के अधिकारी भी स्कूलों में सबके साथ लेंगे। गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान यह भोजन व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं।

प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण योजना के अंतर्गत लक्षित सभी शासकीय एवं अनुदान प्राप्त प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं के विद्यार्थियों को विशेष भोज देने के निर्देश राज्य समन्वयक प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण द्वारा दिए गए हैं। विशेष भोज में विद्यार्थियों को सब्जी, पूरी, खीर अथवा सब्जी, पूरी, हलवा तथा इसके साथ लड्डू का वितरण किया जाना है।

इस निर्देश के बाद जिलों में सभी अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों, जिला शिक्षा अधिकारी व जिला परियोजना समन्वयकों को निर्देशित किया गया है कि वे विशेष भोज के दौरान विद्यार्थियों को दिया जाने वाला भोजन विशेषकर सब्जी आदि पूर्णत: शुद्ध व ताजी हो और इसके वितरण में किसी प्रकार की शिकायत नहीं हो। इस तथ्य का विशेष ध्यान रखा जाए कि भोजन स्वच्छ स्थान पर बने और शुद्ध व गुणवत्ता पूर्ण हो। संबंधित प्रधान अध्यापक/ शाला के नोडल शिक्षक को यह दायित्व सौंपा जाए कि वे अपनी निगरानी में सामग्री का परीक्षण कर भोजन तैयार कराएं।

प्रत्येक शाला के लिए निरीक्षण रोस्टर के अनुसार निर्धारित अंत्योदय कार्डधारी वृद्धजन और माताएं एवं जनप्रतिनिधि भी विशेष भोज में सहभागी हों। साथ ही उनके द्वारा भोजन का निरीक्षण किया जाए। इस बारे में संबंधित शालाओं में शासन के निर्देशों का प्रभावी क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है। जिला शिक्षा अधिकारी, विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी, विकासखण्ड स्रोत समन्वयक और जन शिक्षा केन्द्र प्रभारी को इस आयोजन की मॉनीटरिंग करने के निर्देश दिए गए हैं।