Congress President : चुनाव कार्यक्रम घोषित होने पर 4 नाम सामने आए!

कमलनाथ का नाम भी उछला, पर उन्होंने इंकार किया

1194

New Delhi : अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (AICC) के अध्यक्ष के चुनाव का औपचारिक कार्यक्रम घोषित हो गया। इसके साथ ही अध्यक्ष पद के लिए नए-नए नाम भी सामने आने लगे। राजस्थान के CM अशोक गेहलोत, सांसद शशि गेहलोत के नाम तो पहले से रेस में शामिल थे! बाद में इसमें राजनीति के चाणक्य दिग्विजय सिंह का भी नाम जुड़ा। लेकिन, अब इस रेस में सांसद मनीष तिवारी भी शामिल हो गए। नाम तो MP के प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ का भी सामने आया था, पर उन्होंने इससे इंकार किया। कहा कि 30 सितंबर तक मेरा दिल्ली जाने का कोई कार्यक्रम नहीं है!

पहले अनुमान था कि अध्यक्ष पद के लिए राहुल गांधी के नाम पर सहमति बन जाएगी, वे मान जाएंगे, पर ऐसा नहीं हुआ। इसलिए शशि थरूर और बाद में अशोक गहलोत के चुनाव लड़ने की ख़बरों के बीच अब MP के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी का भी नाम भी सामने आया। दिग्विजय सिंह ने आज दिल्ली पहुंचकर पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से भी मुलाकात की। उन्होंने खुद को भी अध्यक्ष पद का दावेदार बताया। MP के एक और पूर्व CM कमलनाथ का नाम भी चर्चा में आया, लेकिन उन्होंने बताया कि 30 सितंबर तक उनका दिल्ली जाने का कोई कार्यक्रम नहीं हैं।

CM राजस्थान अशोक गेहलोत
राजस्थान के CM अशोक गहलोत का नाम Congress President की रेस में सबसे आगे हैं। उन्होंने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से बुधवार शाम बातचीत की। सोनिया ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष पद के लिए इस चुनाव में वे किसी का फेवर नहीं करेंगींं। गहलोत गुरुवार को राहुल गांधी से मिलने कोच्चि भी गए। उन्होंने बातचीत में कहा ‘मैं एक बार और प्रयास कर रहा हूं राहुल गांधी को अध्यक्ष पद के लिए मनाने का। राहुल गांधी के हां या ना कहने पर ही मैं वापस आऊंगा। इसके बाद आगे का मूवमेंट तय होगा।

Ex CM और सांसद दिग्विजय सिंह
मध्य प्रदेश के पूर्व CM और राज्यसभा सांसद और दिग्विजय सिंह AICC के महासचिव रह चुके हैं। वे MP कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भी रहे हैं। जब मीडिया से उनसे पूछा कि क्या वे राहुल के अलावा अशोक गहलोत या शशि थरूर को नेतृत्व की भूमिका में पसंद करेंगे, तो दिग्विजय सिंह ने कहा ‘चलो देखते हैं। मैं खुद को भी खारिज नहीं कर रहा हूं, आप मुझे बाहर क्यों रखना चाहते हैं!’ दिग्विजय ने कहा कि हर किसी को चुनाव लड़ने का अधिकार है। आपको 30 तारीख की शाम को जवाब पता चल जाएगा।

सांसद शशि थरूर
केरल के तिरुअनंतपुरम से सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ऑल इंडिया प्रोफेशनल कांग्रेस के अध्यक्ष भी हैं। वे कांग्रेस के G-23 नेताओं में से एक हैं। 19 सितंबर को कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने सोनिया से चुनाव लड़ने की इजाजत मांगी। सोनिया ने उन्हें कहा कि चुनाव लड़ने का फैसला आपका है। पार्टी की चुनावी प्रक्रिया तय नियमों के हिसाब से ही होंगी। इसमें सभी को बराबर का अधिकार है।

सांसद मनीष तिवारी
मनीष तिवारी भी सक्रिय हो गए है। वे पार्टी के स्टेट डेलिगेट्स से मिलने अपने निर्वाचन क्षेत्र गए थे। ये स्टेट डेलिगेट्स ही अध्यक्ष पद के चुनाव में वोटर हैं। हर उम्मीदवार को प्रदेश कांग्रेस कमेटी का चुनाव लड़ने के लिए 10 डेलिगेट्स की जरूरत होती है। यही डेलिगेट्स उम्मीदवार का नाम प्रस्तावित करते हैं। मनीष तिवारी पंजाब के श्री आनंदपुर साहिब लोकसभा सीट से सांसद हैं। वे 24 स‍ितंबर को द‍िल्‍ली पहुंच रहे हैं। दिल्ली में ही वे अपने समर्थकों से चर्चा करेंगे। इसके बाद चुनाव लड़ने से जुड़ा फैसला लेंगे। मनीष NSUI और यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष भी रहे हैं।