जाको राखे साईंयां मार सके न कोय: छत से 12 फिट नीचे गिरा नाबालिक मासूम,आई सिर्फ खरोंच

641

छतरपुर से राजेश चौरसिया की रिपोर्ट

●डॉक्टर ने कहा फिलहाल बाल-बाल बचा…
●सिटी स्कैन और जांच के बाद होगा सब स्पष्ट…
●जिला अस्पताल में भर्ती ट्रामा वार्ड में चल रहा ईलाज़…

छतरपुर जिला अस्पताल में भर्ती एक नाबालिग मासूम के छत से गिरने का मामला सामने आया है जहां उसे जिला अस्पताल छतरपुर में लाया गया और ट्रॉमा वार्ड में भर्ती कराया गया है और इलाज चल रहा है।

जिला अस्पताल के ट्रॉमा वार्ड में पलंग नंबर 13 पर लेटा 4 वर्षीय मासूम आनंद अहिरवार है जो कल देर शाम छत पर खेलते समय 12 फिट नीचे जमीन पर आ गिरा जहां उसे जिला अस्पताल लाया गया और यहां उसका ईलाज चला रहा है।

आनंद अहिरवार की माँ देवकी और पिता अखिलेश अहिरवार की मानें तो वह छतरपुर जिले के सीमावर्ती उत्तरप्रदेश के महोबा जिले के कुलपहाड़ा थाना क्षेत्र के रामूपुरा गांव के निवासी हैं।

जहां कल देर शाम उनका 4 वर्षीय बेटा आनंद अहिरवार पड़ोसी की छत पर अपने हमउम्र साथी बच्चों के साथ खेल रहा था जहां वह खेलते-खेलते कब किनारे पर आ गया और छत पर दीवार (पट्टी) न होने के चलते वह छत से नीचे गिर गया। गिरने पर धड़ाम की आवाज आई और बच्चों के चीखने पर लोग दौड़ पड़े।

इसी बीच उसकी मां भी आ गई तो देखा आनंद जमीन पर पड़ा हुआ रो रहा था जिसे तत्काल उठाया और स्थानीय अस्पताल लाये जहां डॉक्टर ने उसे अन्यत्र बड़े अस्पताल में दिखाने को कहा गया, तो परिजन उसे छतरपुर ले आये।

देर रात बच्चे को लेकर छतरपुर जिला अस्पताल पहुंचने पर ड्यूटी पर मौजूद डॉक्टर ने प्राथमिक ईलालज के बाद उसे अस्पताल के ट्रॉमा वार्ड में भर्ती कर दिया है, जहां उसका इलाज चल रहा है।

डॉक्टर की मानें तो प्रथमदृष्टया बच्चा तो स्वास्थ्य है। शरीर में कहीं फ्रेक्चर वग़ैरह नहीं हैं। बच्चे की गिरने पर उसके शरीर में मामूली खरोंचें आईं हैं पर उसके सर में चोट आई है जिसकी जांच करना जरूरी है जिसका सिटी स्कैन कराना अभी बाकी है।

सिटी स्कैन कराने और उसकी रिपोर्ट आने कब बाद ही आगे की स्थिति के बारे में कुछ कहा जा सकता है।

ईश्वर की कृपा से अगर सिटी स्कैन में कुछ निगेटिव नहीं निकला तो बच्चा एकदम स्वस्थ है और ईश्वर की कृपा से वह बाल-बाल बच गया है।